संदेश

Live: NDTV Poll of Exit Polls - UP-उत्‍तराखंड-गोवा में BJP को बढ़त, पंजाब में कड़ा मुकाबला

चित्र
पांच राज्‍यों के चुनाव खत्‍म होने के बाद एक्जिट पोल (exit poll) के नतीजों में चार राज्‍यों में बीजेपी भारी बढ़त की तरफ दिख रही है. पंजाब को छोड़कर चार राज्‍यों में बीजेपी को भारी बढ़त की संभावना इन एक्जिट पोल में जताई जा रही है. इन एक्जिट पोलों (exit poll) के आधार पर NDTV के पोल ऑफ पोल्‍स के मुताबिक यूपी में बीजेपी को सबसे ज्‍यादा 179 सीटें, सपा-कांग्रेस गठबंधन को 136 और बीएसपी को 77 सीट मिलने की संभावना है. पंजाब में अकाली गठबंधन को सात, कांग्रेस 55 और आप को 54 सीटें मिलने का अनुमान है. उत्‍तराखंड में बीजेपी को 43, कांग्रेस को 23 और अन्‍य को चार सीटें मिलने का अनुमान व्‍यक्‍त किया गया है. गोवा में बीजेपी को 18 सीटें, कांग्रेस को 12 और AAP को 3 सीटें मिलने का अनुमान है. मणिपुर में कांग्रेस को 26, बीजेपी को 24 और अन्य को 10 सीटें मिलने का अनुमान है. उल्‍लेखनीय है कि 11 मार्च को मतगणना होगी.

उत्‍तर प्रदेश
इंडिया न्‍यूज-एमआरसी और टाइम्‍स नाऊ वीएमआर के एक्जिट पोल (exit poll) के मुताबिक यूपी में बीजेपी को सर्वाधिक सीटें मिलने की संभावना बताई जा रही है. इंडिया न्‍यूज ने बी…

हरफनमौला व्यक्तित्व को सब करते हैं सलाम

चित्र
सप्ताह का इंटरव्यू

सुनील सोन्हिया

बैंकिंग, नाटक, गायन सहित विविध विधाओं में पारंगत हैं सुनील सोन्हिया

- राजकुमार सोनी
सरल स्वभाव, सुहृदय एवं मिलनसार सुनील सोन्हिया सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया इब्राहीमपुरा में वरिष्ठ शाखा प्रबंधक के पद पर कार्य करते हुए समाजसेवा एवं सांस्कृतिक गतिविधियों में संलग्न हैं। चूंकि श्री सोन्हिया बैंक में कार्यरत हैं अत: जिस शहर में जाते हैं वहां अपनी विविध गतिविधियों से अपनी छाप छोड़ जाते हैं।
पूर्व में मुंबई में रहते हुए टीवी सीरियल देवी, धडक़न, बाबूजी, लेकिन वो सच था में अभिनय किया तथा सहारा टीवी के एक कार्यक्रम चि_ी आई है में एंकर की भूमिका अदा की। गायिकी के क्षेत्र में विभिन्न आर्केस्ट्रा में मुकेश की आवाज में गीतों की श्रृंखला प्रस्तुत की। हाल ही में नवरात्र पर देवी गीत एलबम ‘दरबार तेरा है न्यारा’ में अतिथि गायक के रूप में दो गीत गोय तथा वीडियो एलबम में अभिनय किया। लायंस क्लब से जुड़े रहकर ‘पल्स पोलियो अभियान’ में सक्रिय योगदान दिया। श्री सोन्हिया ने निर्धन छात्रों को बैंकिंग परीक्षा की तैयारी हेतु पढ़ाने की योजना बनाई है। सोन्हिया की दो प…

दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाला विपरीत प्रत्यंगिरा स्तोत्रम्

चित्र
वर्तमान कलियुग में नानाप्रकार के तापों से जातकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जातकों के मन में हमेशा अशांति का वातावरण छाया रहता है आखिर वह क्या करे जिससे मन को शांति तो मिले ही साथ ही यश, वैभव, कीर्ति, शत्रुओं से छुटकारा, ऋण से मुक्ति और ऊपरी बांधाओं से मुक्ति। प्राचीन ऋषि-मुनियों ने मां भद्रकाली, दक्षिणकाली या महाकाली की घनघोर तपस्या कर जातकों को इन सभी वस्तुओं से छुटाकर कीर्ति की पताका लहराई थी। बहुत कम जातक जानते होंगे मां प्रत्यंगिरा के बारे में, मां प्रत्यंगिरा का भद्रकाली या महाकाली का ही विराट रूप है। मां प्रत्यंगिरा की गुप्तरूप से की गई आराधना, जप से अच्छों-अच्छों के झक्के छूट जाते हैं। कितना ही बड़ा काम क्यों न हो अथवा कितना बड़ा शत्रु ही क्यों न हो, सभी का मां चुटकियों में शमन कर देती हैं। आप भी मां प्रत्यंगिरा की सच्चे मन से साधना-आराधना-जप करके यश, वैभव, कीर्ति प्राप्त कर सकते हैं। स्तोत्रम प्रारंभ करने से पूर्व प्रथम पूज्य श्रीगणेश, भगवान शंकर-पार्वती, गुरुदेव, मां सरस्वती, गायत्रीदेवी, भगवान सूर्यदेव, इष्टदेव, कुलदेव तथा कुलदेवी का ध्यान अवश्य कर लें। यह स्तो…

अपनी उलझी समस्याओं को सुलझाएं

चित्र
शक्तियों का साक्षात चमत्कार
धार्मिक ग्रंथों में उल्लेख मिलता है कि कलियुग में शक्तियों का साक्षात चमत्कार देखने को मिलता है। किसी भी जातक ने थोड़ी सी भी पूजा-अर्चना कर ली उसे तुरंत लाभ मिलता है। अगर आप भी किसी भी समस्या से घिरे हैं और तत्काल निदान चाहते हैं तो शक्तियों का अद्भुत चमत्कार अनुभव कर सकते हैं। अगर आपको बाकई ढोंगी तांत्रिकों, बाबाओं, जादू-टोना वालों से बेहद तंग और परेशान हो चुके हैं तो सच्ची शक्तियों की कृपा प्राप्त कर अपनी उलझी हुई समस्याओं का निदान प्राप्त कर जीवन को खुशहाल बना सकते हैं। एक बार आपने शक्तियों की विशेष कृपा प्राप्त कर ली तो आपका जीवन धन्य हो जाएगा। हर जातक के जीवन में अनेकानेक समस्याएं आती रहती हैं उन से वह कुछ समय के लिए छुटकारा तो पा लेता है लेकिन कई समस्याएं ऐसी हैं जो जिंदगी भर जातक इनसे छुटकारा नहीं पा सकता। रोजाना का पारिवारिक कलह, पति-पत्नी में मन-मुटाव, आसपास के पड़ोसियों की द्वेष भावना, ऊपरी हवा का चक्कर, जमीन-जायदाद, कोर्ट-कचहरी, प्रेम में विफलता, तलाक की नौबत, धन की बेहद तंगी, बेरोजगार, सास-बहू में अनबन, किसी भी काम में मन नहीं लगना,…

विवाह के लिए बायोडाटा

चित्र
नाम - राहुल गुप्ता       (मांगलिक)
रंग - गोरा
हाइट - 5 फुट 5 इंच
व्यवसाय - व्यापार
शैक्षणिक योग्यता - बी.कॉम (फाइनल)
जन्म तिथि - 15 अक्टूबर 1989
समय -  6.15 सुबह
दिन - रविवार
स्थान - भोपाल
गोत्र - भाल
आंकना - खांगर

पिता का नाम - जगदीश गुप्ता (खांगर)
कार्यकारिणी सदस्य - श्री गहोई वैश्य समाज
माता का नाम - श्रीमती संध्या गुप्ता

भाई - नहीं
बहन -  नहीं
मामा - श्री राजेश बिचपुरिया (बबलू)
मामा का आंकना - बिचपुरिया
मामा का गोत्र - गोल

लड़के के पिता की फर्म - 
गुप्ता ट्रेडर्स, छोला मंदिर रोड, भोपाल (मप्र)
स्थाई पता - छोला हनुमान मंदिर कॉलोनी मेन रोड, छोला रोड, भोपाल (मप्र)
मोबाइल नं. - 099934-97175, 096302-52020
फोन नंबर - 0755-2710412
ईमेल -  shivnarayan17@gmail.com

मप्र के राज्यपाल रामनरेश यादव से पत्रकार प्रवीण श्रीवास्तव व राजकुमार सोनी की सौजन्य भेंट

चित्र
भोपाल। मिशन फॉर मदर के संचालक प्रवीण श्रीवास्तव व पत्रकार राजकुमार सोनी ने 22 जनवरी को दोपहर 12 बजे मप्र के राज्यपाल रामनरेश यादव से राजभवन में सौजन्य भेंट की। इस अवसर पर राज्यपाल को मां कविता संग्रह व तस्वीर भेंट की गई। राज्यपाल रामनरेश यादव ने मिशन की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए मिशन के उज्जवल भविष्य की कामना की। राज्यपाल ने अपने माता-पिता के रोचन संस्मरण भी सुनाए।




विज्ञानों का विज्ञान है ज्योतिष

भारतीय संस्कृति का आरंभ बिंदु वेद है। वैदिक साहित्य में काल पुरुष की अवधारणा तथा अग्नि, सूर्य, चंद्रमा, ऊषा, पृथ्वी, मरुत, वायु, वरुण, इंद्र, सोम आदि देवताओं के उत्स और आराधना के अनेक मंत्र मिलते हैं। वैदिक काल में ही मानव की प्रज्ञा ने इस प्राकृतिक शक्तियों में व्यक्तित्व आरोपित कर उन्हें आराध्य मान कर देवता रूप में प्रतिष्ठित किया था। देवता का अर्थ है कि जो कुछ देता है और यह तो एक नितांत सत्य है कि हमारा जीवन इन्हीं प्राकृतिक शक्तियों पर आश्रित है। हम इन्हीं के द्वारा जीवित हैं और इन्हीं पर निर्भर भी। शायद इसीलिए वेदों का एक बहुत बड़ा भाग इन सब जीवनदायिनी शक्तियों की आराधना से आपूरित है। सृष्टि का एक अटल नियम है वेदों ने इसे ऋत की संज्ञा दी है। ऋत का अर्थ है ईश्वर का स्वभाव या दूसरे अर्थो में सृष्टि संचालन का नियम है। एक निश्चित व्यवस्था में अखिल ब्रह्मांड का संचालन हो रहा है। पृथ्वी अपने अक्ष पर सूर्य के चारों ओर एक निर्धारित कक्षा में भ्रमण कर रही है। अन्य ग्रहों, उपग्रहों इत्यादि का भी भ्रमण मार्गत्व वक्रत्व ग्रहण तथा उदय अस्त होना एक निश्चित प्रक्रिया में है। जिसका सटीक पूर्वानु…